May 29, 2022

वीरेन्द्र ठाकुर की वापसी कबहूँ साथ नाही छूटी से

सिनेमा के प्रति दीवानगी और कुछ कर गुजरने के जज्बा के धनिक फिल्म निर्माता वीरेन्द्र ठाकुर पुनः फिल्म निर्माण के क्षेत्र में उतर गए हैं। इन्होंने पहला सफल निर्माण यशोदा काजरे (यशोतुलशी क्रियेशन) प्रस्तुत उच्चतम गुणवत्ता का भोजपुरी म्यूजिकल वीडियो  कबहूँ साथ नाही छूटी का किया है। जिसका मुम्बई के कंट्री क्लब में भव्य लॉन्चिंग नगर सेवक अनंत सुतार के कर कमलों द्वारा  धूमधाम  से किया गया। म्यूजिकल वीडियो की निर्मात्री गीता काजरे हैं। अब तक का सबसे मँहगा यह म्यूजिकल वीडियो बनाकर  इन्होंने एक मिशाल कायम की हैं। सहनिर्माता वीरेन्द्र ठाकुर तथा निर्देशक बिन्देश कुमार हैं। गीतकार पिन्टू गिरी तथा संगीतकार सावन कुमार हैं। इस अल्बम में परफार्म करने वाले कलाकार पुरुषोत्तम सिंह लहरी, वीरेन्द्र सिंह चौहान निरहू, संजना साहनी, बिंदेश कुमार, दत्ता सुतार हैं। गायक पुरुषोत्तम सिंह लहरी और गायिका ममता रावत हैं। छायांकन किया है डी के शर्मा व प्रदीप शर्मा ने। एडिटिंग नकुल के प्रसाद के पी एन पी स्टूडियो गोरेगाँव में एडिटर बिट्टू ने किया है। मार्केटिंग जय विजय श्री मूवीज द्वारा किया जा रहा है। इस शुभ अवसर पर सुशील अग्रवाल, विजय यादव, फ़िल्म निर्माता मुकेश गुप्ता, राईस खान एवं सुरेन्द्र पुजारी आदि अतिथि उपस्थित थे। इस म्यूजिकल वीडियो की खासियत यह है कि कहानी के साथ गानो का समावेश किया गया है। संगीतप्रेमियों के लिये यह अनुपम भेंट होगी।

Virendra Thakur

गौरतलब है कि महाराष्ट्र के अमरावती के मूल निवासी वीरेन्द्र ठाकुर कई सालों से मुंबई में रहते हैं। इन्होंने चार साल पहले हिन्दी म्यूजिक वीडियो माता का श्रृंगार, मैया जीवदानी एवं हिन्दी फिल्म का भी निर्माण किया था। अब चार साल बाद दुबारा इन्होंने महँगे और हर वर्ग के दर्शक के लिए भोजपुरी म्यूजिक वीडियो के निर्माण से वापसी की है। इसके अलावा शीघ्र ही इनके जेवीएम प्रोडक्शन के बैनर तले एक मराठी तथा  हिन्दी फिल्म तकरार का निर्माण कार्य शीघ्र ही शुरू किया जायेगा। फिल्म के स्क्रिप्ट पर कार्य आरम्भ कर दिया गया है।